Ads Area

तुम सामने आये तो अजब तमाशा हुआ - Narazgi Shayari


तुम सामने आये तो
अजब तमाशा हुआ
हर शिकायत ने जैसे
खुदकुशी कर ली


 

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area