Ads Area

समेट कर ले जाओ अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्से - Dhoka Shayari,Breakup Shayari


समेट कर ले जाओ
अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्से
अगली मोहब्बत में तुम्हें फिर
इनकी ज़रूरत पड़ेगी


 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad

Shayar Indian पर आपका स्वागत, बेहतरीन Love, Sad, 2 Lines, Suvichar, Anmol Vachan आदि के लिए जुड़े रहे हमारे साथ | For Latest News Updates on Travel, Succes, Art, Nature Environment, Festival, History etc Visit EBNW Story