Ads Area

बात अजीब भी है मगर बहुत खूब भी है - Dhoka Shayari


बात अजीब भी है
मगर बहुत खूब भी है,
मेरा महबूब किसी और का
महबूब भी है!!


 

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area