Ads Area

बारिश की बूंदों में झलकती है उसकी तस्वीर - Barish Shayari


बारिश की बूंदों में
झलकती है उसकी तस्वीर
आज फिर भीग बैठे
उसे पाने की चाह में

Barish Ki Bundo Me
Jhalakti He Uski Tasvir
Aaj Fir Bhig Bethe
Use Pane Ki Chahat Me


 

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area