Ads Area

शाम और जिंदगी पर शायरी स्टेट्स । Zindagi, Falsafa, Ajib, Sham, Saal


ज़िंदगी का फलसफा भी
कितना अजीब है
शामें कटती नहीं और
साल गुज़रते चले जा रहे हैं


 

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area