Ads Area

क्यों न खामोशियों को - Khamoshi, Shor, Badla


क्यों न खामोशियों को
शोर में बदला जाए,
किसी से बदला तो
किसी को बदला जाए !
-रविन्द्र


 

Top Post Ad

Below Post Ad

Shayar Indian पर आपका स्वागत, बेहतरीन Love, Sad, 2 Lines, Suvichar, Anmol Vachan आदि के लिए जुड़े रहे हमारे साथ | For Latest News Updates on Travel, Succes, Art, Nature Environment, Festival, History etc Visit EBNW Story

Ads Area