Subscribe Us

Zindagi Ko Khuli Kitab Na Banao - Zindagi Shayari

जिंदगी को खुली किताब
ना बनाओ क्योंकि
लोगों को पढ़ने में नहीं
पन्ने फाड़ने में मजा आता है.

Post a Comment

0 Comments