Subscribe Us

Pyar Ho Ya Parinda- Shayari on Love

प्यार हो या परिंदा
दोनों को आजाद छोड दो,
लौट आया तो तुम्हारा
ना लौटा तो
तुम्हारा कभी था ही नहीं.

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां