Subscribe Us

एक हसरत थी - Ruthna Manana Shayari

 Ruthna Manana Shayari

एक हसरत थी कि
कभी वो भी हमें मनाये,
पर ये कमबख़्त दिल
कभी उनसे रूठा ही नहीं ।