Subscribe Us

Very Sad Shayari: Wakt, Takaja, Dil Ka Dard, Aansu, Kagaj, Kalam, Shyahi

Very Sad Shayari: Wakt, Takaja, Dil Ka Dard, Aansu, Kagaj, Kalam, Shyahi
लिखूं कुछ आज
यह वक्त का तकाजा है,
मेरे दिल का दर्द अभी ताजा ताजा है
गिर पड़ते हैं मेरे आँसू मेरे ही कागज पर,
लगता है कल़म से
स्याही का दर्द ज्यादा है ।