Subscribe Us

नजरों से गिरने का - Najro Se Girna Shayari, Patjhar, Patte, Mausam

पतझड़ में
सिर्फ पत्ते गिरते हैं,
नजरों से गिरने का
कोई मौसम नहीं होता ।

नजरों से गिरने का - Najro Se Girna Shayari, Patjhar, Patte, Mausam