Subscribe Us

ना जाने क्यों दिल : Hindi Shayari - Dil, Dua, Ishq, Mohabbat

 ना जाने क्यों दिल : Hindi Shayari - Dil, Dua, Ishq, Mohabbat
ना जाने क्यों दिल
खिंचा जाता है उसकी तरफ,
क्या उसने भी मुझे पाने की
दुआ मांगी है ।