Subscribe Us

Sardi, Sham, Jalim, Dil, Sulagna : Mausam Sad Shayari

ये सर्द शामें भी 
कितनी ज़ालिम होती है,
बहुत सर्द होती है 
मगर दिल सुलगता है.
Sardi, Sham, Jalim, Dil, Sulagna : Mausam Sad Shayari
Sardi, Sham, Jalim, Dil, Sulagna : Mausam Sad Shayari

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां