Ads Area

Sad Shayari : Mohabbat, Udas, Aawaj

मैंने कब कहा तू मुझे गुलाब दे
या फिर अपनी मोहब्बत से नवाज़ दे,
आज बहुत उदास है मन मेरा
गैर बनके ही सही तू बस मुझे आवाज़ दे.
Sad Shayari : Mohabbat, Udas, Aawaj
Sad Shayari : Mohabbat, Udas, Aawaj

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area