Subscribe Us

महफिल शायरी । Mehfil Shayari : JIkra, Bewafa, Raat, Naam, Yaar

महफिल शायरी । Mehfil Shayari : JIkra, Bewafa, Raat, Naam, Yaar
ज़िक्र बेवफाओं का था
रात सर-ए-महफ़िल में
सिर मेरा भी झुका जब
नाम मेरे यार का आया