Ads Area

Kirdar, Aasma, Khabar, Akhbar, Karwan : Hindi Shayari

चमक सूरज की नहीं 
मेरे करदार की है
खबर ये आसमां के अखबार की है
मैं चलूं तो मेरे संग कारवां चले
बात गरुर की नहीं
ऐतबार की है.
Kirdar, Aasma, Khabar, Akhbar, Karwan : Hindi Shayari
Kirdar, Aasma, Khabar, Akhbar, Karwan : Hindi Shayari

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area