Subscribe Us

Hindi Shayari on Family : Sajda, Bujurg, Tahjib, Maryada, Dahlij, Ghar

Hindi Shayari on Family : Sajda, Bujurg, Tahjib, Maryada, Dahlij, Ghar
जहां सजदा हो बुज़ुर्गों का
वहाँ की तहजीब अच्छी है
जहाँ लांघे न कोई मर्यादा
उस घर की दहलीज़ अच्छी है