Ads Area

Dard, Apne, Yaad, Daulat, Bhulana : Rishte Shayari in Hindi

Dard, Apne, Yaad, Daulat, Bhulana : Rishte Shayari in Hindi

दर्द कितना खुसनसीब है ना
अपनों की याद दिला देता है,
और एक दौलत है जो
अपनों को भी भूला देती है ।

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area