Ads Area

Buland Hosla Suvichar in Hindi - Anmol Vachan - Dr Rahat Indori

कभी महक की तरह हम गुलों से उड़ते हैं
कभी धुएं की तरह पर्वतों से उड़ते हैं
ये केचियाँ हमें उड़ने से खाक रोकेंगी
की हम परों से नहीं हौसलों से उड़ते हैं
- Dr Rahat Indori
Buland Hosla Suvichar in Hindi - Anmol Vachan - Dr Rahat Indori

Below Post Ad

Shayar Indian पर आपका स्वागत, बेहतरीन Love, Sad, 2 Lines, Suvichar, Anmol Vachan आदि के लिए जुड़े रहे हमारे साथ | For Latest News Updates on Travel, Succes, Art, Nature Environment, Festival, History etc Visit EBNW Story